मिक्स न्यूज़

अगस्त में 10 महीने के उच्चतम स्तर पर पहुंची महंगाई


रीचा झा :- आर्थिक मंदी के साथ-साथ देश में घरेलू सामान, ईंधन, भोजन, आदि जैसी विभिन्न वस्तुओं की खुदरा कीमतें अगस्त में 10 महीने के उच्चतम स्तर पहुंचने की संभावना है। कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज रिसर्च के अनुसार, सीपीआई मुद्रास्फीति की दर जुलाई में 3.15 प्रतिशत थी, जो अगस्त में बढ़कर 3.23 प्रतिशत हो गई।

इस रिपोर्ट में कहा गया है कि बाजार को देखते हुए अगस्त में मुद्रास्फीति 3.35 प्रतिशत से अधिक हो सकती है। जुलाई में खुदरा मुद्रास्फीति की दर जून में 8 महीने के उच्च स्तर की तुलना में मामूली रूप से कम हुई है। वर्तमान हालात और रेपो दर में कटौती के बावजूद मुद्रास्फीति आरबीआई के तेरहवें महीने के लक्ष्य से 4 प्रतिशत नीचे रहने की संभावना है।

कोटक की रिपोर्ट में यह भी अनुमान लगाया गया है कि जुलाई में औद्योगिक क्षेत्र में प्रोडक्शन में वृद्धि हुई है। जुलाई में प्रोडक्शन 2.3 प्रतिशत बढ़ा है। पिछले महीने की तुलना में इसमें 2 प्रतिशत का मामूली सुधार हुआ है। इससे पहले जून में, IIP की ग्रोथ घटकर 2% रह गई, जो एक साल पहले इसी महीने में 7% थी। मंदी का मुख्य कारण खनन और विनिर्माण क्षेत्र में कमजोरी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *